क्रान्ति न्यूज -भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल

पहली ही बारिश में जगह जगह भरा जनपद मुख्यालय में पानी

beauro report – pradeep mishra :-

  • कीचड़ युक्त सड़कों पर चलने को विवश नगरवासी
  • विकास भवन कचहरी परिसर की पटरियों पर चलना हुआ दूभर

कौशाम्बी जनपद में निर्माण कार्यों में व्याप्त भ्रष्टाचार के चलते समय से पहले ही नाली पटरी सड़क ध्वस्त हो जाती हैं और नाली पटरी सड़क बनाकर विभागीय अधिकारी ठेकेदारों को करोड़ों का भुगतान कर कमीशन वसूल कर अधिकारी और ठेकेदार मालामाल हो रहे हैं लेकिन सरकारी योजनाओं से बनने वाली सड़कों नालियों पटरी का उपयोग नगर वासियों के नसीब में नहीं होता है

पहली ही बारिश में नगर में जगह-जगह पानी भर गया है पटेरिया कीचड़ युक्त हो गई हैं और नालियां जाम होने के चलते नालियों का पानी कीचड़ समेत पटरियों और और सड़कों पर फैल गया जिससे उठने वाली दुर्गंध ने नगर वासियों की नींद हराम कर दी है

लेकिन शीशा बंद कर अधिकारी सड़क पर तेज गति से निकल जाते हैं जिससे सड़क पर चलने वाले पैदल साइकिल सवार बाइक सवार और ठेलिया लगाने वाले छोटे दुकानदारों के कष्ट का अंदाजा इन अधिकारियों को नहीं हो पाता है जब जनपद मुख्यालय नगर पालिका क्षेत्र की दुर्दशा का यह आलम है जहां बड़े बड़े अधिकारियों का भी डेरा जमा रहता है तो फिर जिले की अन्य नगर पंचायतों और ग्रामीण क्षेत्रों की पहली बारिश के बाद दुर्दशा का क्या हाल होगा इसका सहज अंदाजा लगाया जा सकता है गांव की गलियों में कीचड़ भर जाने के चलते लोगों को निकलने में दिक्कतों से जूझना पड़ रहा है पूरे जिले की ग्राम पंचायतों से लेकर नगर पंचायतों और नगर पालिका परिषदों में नाली निर्माण में जमकर मानक की अनदेखी हो रही है

सड़क और पटरियों का पानी नाली में बह पाएगा कि नहीं इस बात से ठेकेदार कार्यदायी संस्थाओं का कोई वास्ता नहीं है उन्हें तो केवल ईटा सीमेंट बालू का ढांचा खड़ा कर सरकारी खजाने से करोड़ों का बजट तिजोरी तक पहुंचाने की मंशा है और अपने इस मंशा में बीते दो दशक से विभागीय अधिकारी और ठेकेदार पूरी तरह से सफल होते आ रहे हैं

दिक्कत तो नगर और ग्रामीण वासियों को होती है लेकिन उनकी सुनने वाला कौन है सांसद विधायकों को भी आम जनता की दिक्कतों के निस्तारण का ठोस प्रयास करने की सोच नहीं रह गई है सांसद विधायक केवल अपने जनाधार को देखने तक सीमित है और ठेकेदारी में लगे यह भ्रष्ट ठेकेदार सांसद विधायक के शरण में पल रहे हैं जिससे तमाम शिकायतों के बाद भी किसी अधिकारी ने इनके कृत्य पर कार्यवाही करने का मन बनाया तो माननीयों का फोन बजने लगता है और मुख्यमंत्री तक शिकायत करने का बात कर अधिकारियों का हौसला माननीय तोड़ देते हैं जिससे ठेकेदार बेलगाम हो जाते हैं और पूरी तरह से सरकारी धन को लूट कर तिजोरी में जमा करना उनका एक मकसद होता है

जनपद मुख्यालय के कचहरी विकास भवन की सड़कों पटरियों पर पूरी तरह से कीचड़ भरा हुआ है जगह-जगह जलभराव है मंझनपुर कस्बे के बड़ा शिवाला होते हुए बाजार को जाने वाली प्रमुख गली के साथ विभिन्न गलियों में भी जगह-जगह जल जमाव है पुराने एआरटीओ के बगल से आने वाली गली में भी जगह-जगह जल जमाव है जिससे नगर वासियों को नगरों की सड़कों में ही निकलने में दिक्कतों से जूझना पड़ता है नगर पालिका मंझनपुर क्षेत्र के समदा मुख्य मार्ग की हालत यह है इस सड़क पर नाला का निर्माण कराने में सरकार ने तीन चार बार में करोड़ों का बजट खर्च कर दिया है लेकिन इस सड़क की पटरियों का भी पानी नालों में नहीं पहुंच पाता है जब अधिक बारिश होती है तो बहाव का पानी तो नाला में चला जाता है लेकिन नीचे की दो-तीन इंच ऊंचा पानी पटरियों में भरा रह जाता है जो बाद में कीचड़ में परिवर्तित हो जाता है इस और शासन को नजर लगानी होगी और जनपद मुख्यालय के सौंदर्यीकरण और पानी बहाव की पूरी व्यवस्था की पुनः जांच कराए जाने के साथ-साथ दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करते हुए जल निकासी की समुचित व्यवस्था बनानी होगी

Translate »
क्रान्ति न्यूज -भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल