क्रान्ति न्यूज -भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल

दबंग प्रधान की शिकायत मुख्य मन्त्री से करने के बाद भी कोई कार्यवाही नही।

संवाददाता राम कुमार मिश्रा

मोतीगंज।।गोण्डा। छ माह बाद भी उच्चाधिकारी जनप्रतिनिधियों के छत्रछाया में भ्रष्ट्राचार को बढ़ावा दे रहे दबंग प्रधान पर कार्यवाही करने के लिए हिम्मत नहीं जुटा पा रहे है | जिससे सीएम योगी का भ्रष्ट्राचार मुक्त उत्तर प्रदेश की मंशा धूल धुषित हो रही है |
बताते चले कि सीएम योगी के राज में भी राजनीति के प्रथम पायदान पर सक्रिय जनप्रतिनिधि अपनी दबंगई के चलते भ्रष्टाचार के शिखर पर पहुंच गया है। इस संबंध में ग्रामीण हौंसला प्रसाद द्विवेदी आदि ने बीते वर्ष के २७ दिसंबर को जिलाधिकारी से शपथ पत्र पर शिकायत कर उच्च स्तरीय जांच एवं कार्रवाई की मांग की थी । जिलाधिकारी डॉक्टर नितिन बंसल सहित जनपद व मण्डल के अन्य अधिकारियो को दिए गए लिखित शपथ पत्र में शिकायतकर्ता ने कहा था कि मनकापुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत गुनौरा नरेंद्रपुर का प्रधान रघुनायक प्रसाद द्विवेदी एक सरकस व जालसाज किस्म का व्यक्ति है। सरकार द्वारा ग्राम पंचायत में विकास के लिए चलाई जा रही तमाम योजनाओं में इसके द्वारा विशेष भ्रष्टाचार कर धन का गबन किया गया है। मनरेगा योजना के तहत कई तालाबों व अन्य कार्यों में फर्जी बाउचर व अंगूठा लगाकर काफी धन का गबन कर लिया गया है। यदि सभी तालाबों एवं कार्यों को देखा जाए तो निकाले गए धन के सापेक्ष मात्र 10 से 20 प्रतिशत कार्य ही कराए गए हैं। चौदहवां व चतुर्थ वित्त योजना के तहत ग्राम पंचायत में कराए गए कार्यों में भी फर्जी बाउचर लगाकर काफी धन गबन कर लिया गया है। यह भी आरोप लगाया गया था कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय आवंटन में भी ग्राम पंचायत में काफी धनराशि का गबन किया गया है। प्रधानमंत्री आवास योजना संबंधी लाभार्थियों में आवास धनराशि का बंदरबांट किया गया है। बहुत से अपात्र व्यक्तियों को आवास देकर पुराने मकान को आवास के रूप में दर्शाया गया है। यही नहीं, इंडिया मार्का नल रिबोर व मरम्मत में फर्जी बाउचर लगाकर धनराशि का गबन किया गया है।
मामले में शिकायत के पहले ही सोशल आडिट टीम द्वारा भी ग्राम प्रधान पर अपना भ्रष्ट्राचार छुपाने के लिए अभिलेखों को न उपलब्ध कराने के लिए आरोप भी लगाया था |जिसका एक जनसूचना के तहत खुलाशा हुआ था |
शिकायतकर्ता ने जिलाधिकारी से शपथपत्र में लगाए गए आरोपों की निष्पक्ष जांच कराकर जनहित में कार्रवाई की मांग की थी । लेकिन भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे गुनौरा के प्रधान के विरूद्ध उच्चाधिकारी जाँच करवाने की हिम्मत नही जुटा पा रहे है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
क्रान्ति न्यूज -भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल