करोंड़ों के बाइक बोट फ्रॉड के जांच की आंच सतना पहुंची

बाइक टैक्सी के नाम पर देश के कई प्रांतों में निवेशकों को ठगने वाली कंपनी के खिलाफ अब सतना में भी मामला सामने आया है। इस फ्रॉड के जांच की आंच यहां पहुंच गई है।

कोलगवां थाना पुलिस ने इस मामले में अपराध पंजीबद्ध कर लिया है। यहां उल्लेखनीय है कि यह पूरा मामला कथित तौर से अरबों रुपए की ठगी का है। जिसके तार अब यहां भी जुड़े पाए गए हैं। खास बात यह है कि उप्र की नोएडा पुलिस ने इस केस में जब बड़ी कार्रवाई की है तो अब इसके निवेशक भी चेहरा छुपा रहे हैं। पुलिस उन निवेशकों को चिन्हित कर सामने लाने का प्रयास कर रही है।

बड़े फायदे का लालच

मालूम हुआ है कि गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड नाम से उप्र के गौतम बुद्ध नगर नोएडा में एक कंपनी का दफ्तर खुला था।

यह कंपनी बाइक टैक्सी के नाम पर कारोबार करती थी। कंपनी ने एक बाइक पर लगभग 60 हजार रुपए लगाने पर निवेशक को हर महीने करीब 9 हजार रुपए लौटाने का वायदा किया था।

कंपनी ने कुछ समय तक इस वायदे को निभाया लेकिन जब उसके निवेशकों की संख्या लगातार बढ़ती गई तो कंपनी अचानक सबको चूना लगा कर चंपत हो गई। बताते हैं कि रफूचक्कर होने से पहले कंपनी के लोगों ने निवेशकों का दबाव बढऩे पर उन्हें चेक बांटे थे जो की धड़ाधड़ बाउंस होते गए।
एक करोड़ से ऊपर की ठगी का मामला

सूत्रों के मुताबिक बाइक टैक्सी के नाम पर ठगी करने वाले इस गिरोह ने सतना शहर के तकरीबन एक सैकड़ा लोगों को एक करोड़ से अधिक का चूना लगाया है।

बदखर, उमरी, सिंधी कैंप, बांधवगढ़ कॉलोनी, पन्ना नाका, विराटनगर सहित कई अन्य इलाकों में इसके निवेशक हैं जो अभी सामने आने से कतरा रहे हैं।

हालांकि पुलिस ने घटना के बारे में कुछ लोगों के बयान ले लिए हैं। सूत्रों के मुताबिक हरिओम पांडे, बद्री प्रसाद मिश्रा एवं मानवेंद्र सिंह सहित अन्य लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं। एक महिला फरियादी के सामने आने पर पुलिस को अन्य लोगों के बारे में भी जानकारी मिली है। जिसके मुताबिक विराट नगर निवासी प्रीति सिंह राजपूत, सरोज सिंह राजपूत, बदखर निवासी बद्री प्रसाद मिश्रा एवं पेप्टेक सिटी निवासी मानवेंद्र सिंह सहित अन्य लोगों ने बाइक टैक्सी पर पैसा लगाया था। यह वो लोग हैं जिन्हे कंपनी ने अपने जाल में उलझाया था।

हर महीने 9765 रुपए की वापसी का भरोसा देकर कंपनी ने इन निवेशकों से प्रति बाइक पर 62 हजार एक सौ रुपए की दर से निवेश करवाया था। कंपनी ने इन्हें 3 बाइक टैक्सी की स्कीम लेने पर 4500 रुपए बोनस देने का वादा भी किया था। फिलहाल जो महिला फरियादी पुलिस के सामने आई है उसने 5 बाइक टैक्सी पर एकमुश्त 3 लाख 10 हजार 500 रुपए लगाए थे। उन्होंने यह रकम 27 नवंबर 2018 को एसबीआई खाते के माध्यम से कंपनी को दी थी।

इनके खिलाफ मामला दर्ज
पुलिस अधीक्षक के पत्र पर जांच करते हुए कोलगवां थाना पुलिस ने कंपनी के एमडी संजय भाटी समेत बीएन तिवारी, राजेश भारद्वाज, करन पाल सिंह सहित अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है।

पुलिस ने अपराध
क्रमांक1388/19 आइपीसी की धारा 420 सहित मध्य प्रदेश निक्षेपकों के हितों के संरक्षण अधिनियम 2000 की धारा 6 (1) के तहत अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण को जांच में लिया है। शुक्रवार को मामला कायम होने के बाद अब इस मामले से जुड़े लोगों के बयान दर्ज करते हुए केस डायरी मजबूत की जा रही है

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल