रामानुज मठ, गया ( बिहार) से लापता लड़के को भरथरी साधू बनाये जाते हैं ।- इस समाचार के पांचवीं भाग यहां से पढ़िए ——-

KRANTI NEWS BIHAR , ( KAVI ANIRUDH SINGH) :- मैं डॉ बच्चू नारायण सिंह केआदेश पर गढ़वा ( बिहार) में श्री देवनारायण आचार्य जी को खोजने के लिए अकेले ही गया था, परंतु वहां पहुंचने पर कुछ भी जानकारी नहीं मिल सका । अतः उसी दिन शाम को मैं गढ़वा ( बिहार) से अपने जिला- गया वापस आ गया । इसके बाद अवध सिंह और दिलीप सिंह के बड़े भाई डॉ बच्चू नारायण सिंह ने मुझसे कहा था कि नीलम नरसिंग होम के बगल के मंदिर में देव नारायण आचार्य जी रहते हैं । यह स्थान सीता रोड, चंदौसी, जिला- मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश में पड़ता है । वहां जाकर देवनारायण आचार्य जी को पकड़ना और मैं तुमको एक पत्र लिख कर देता हूं, जिसे तुम मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री प्रेम प्रकाश जी को साथ में लेकर देना और तब मुझे बताना । लेकिन मैं अकेला कुछ गंभीर कठिनाई के कारण वहां देवनारायण आचार्य जी को पता लगाने नहीं जा सका । डॉ बच्चू नारायण सिंह ने जिस लेटर को एस.एस. पी. मुरादाबाद के नाम से लिखें थे, मैं उस लेटर की छायाप्रति आपके सामने प्रस्तुत किया हूं । इसके बाद मैं श्री देवनारायण आचार्य जी को पकड़ने के लिए गुप्त रूप से प्रयास कर रहा हूं । अभी तक मुझे अवध और दिलीप सिंह के गुरु देव नारायण आचार्य जी के बारे में ‌कोई सुराग नहीं मिला है । मैं उनके रहने के स्थान को खोज रहा हूं, लेकिन मैं जहां भी जाता हूं, वहां से ‌मुझे निराश होकर ही वापस लौटना पड़ता है । फिर भी मैं साहस के दम पर काम कर रहा हूं । एक छोटा भाई दिलीप सिंह पिछले साल 2018 में म ई के महीने में घर पर माता – पिता से ‌मिलने आया था, लेकिन उससे संपर्क करने के बाद भी अवध सिंह और देवनारायण आचार्य जी के ‌संबंध ‌में कुछ भी जानकारी नहीं मिल सका ,जिससे की उन दोनों को पकड़ सके । मैं हर तरीके से उनको पकड़ने का कोशिश कर रहा हूं, लेकिन वे अभी तक ‌पकड़ से ‌बाहर हैं । मुझे यह भी लगता है कि मेरे दोनों भाइयों की तरह अनेक लड़के को फंसाकर ‌भरथरी साधू बनाते होंगे अथवा कोई दूसरा अप्रिय कार्य कराते होंगे । – शेष भाग आप छठे अंक में पढ़िए ————————-

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल